logo

हरियाणा की सभी अनाज मंडियों में ई-ट्रेडिंग के विरोध में आज से अनिश्चितकालीन हड़ताल

हरियाणा। अब हिसार में नहीं बल्कि पूरे प्रदेशभर में आज से अनाज मंडियाें में हड़ताल रहेगी और ऐसे में मंडियों में न खरीदारी होगी और न ही कोई अन्य काम होगा। जिसके चलते की किसान व व्यापारी वर्ग काफी प्रभावित होगा। 
 | 
अनाज मंडी
ये हड़ताल सरकार की ओर से ई-ट्रेडिंग का कानून लाने के विरोध में की जा रही है।
प्रदेश में आज से अनिश्चित काल तक सभी अनाज मंडियां बंद रहेगी। मंडी व्यापारियों ने कहा है कि अभी अनिश्चितकालीन पूर्ण रूप से हड़ताल का फैसला लिया गया है। साथ ही हिसार में नहीं बल्कि पूरे प्रदेशभर की अनाज मंडियाें में सोमवार यानी की आज से हड़ताल रहेगी और ऐसे में मंडियों में न ही खरीदारी होगी और न ही अन्य काम होगा। आपको बता दे कि सभी मंडी व्यापारियों ने सरकार से अपनी मांगे पूरी करने की मांग की है। जिसके साथ ही मंडी व्यापारियों का कहना है कि अगर उनकी मांगे नहीं मानी जाती है तो ये हड़ताल अनिश्चितकालीन चलेगी।
आपको बता दे कि सरकार अभी जो नया कानून लाने जा रही है। ये हड़ताल इसके विरोध में है। क्योंकि इस नए कानून से व्यापारियों काे नुकसान होगा। साथ ही अगर ई-ट्रेडिंग से फसल की खरीद होगी तो मंडी को भी खतरा है। मंडी में व्यापारी क्या ही करेंगे और इनका रोजगार छीन जाएगा। साथ ही यह फैसला प्रदेश स्तर की व्यापारी वर्ग की कमेटी के आदेश पर लिया है और अभी अनिश्चितकालीन हड़ताल के आदेश दिए गए है है। इस हड़ताल में मंडी का हर व्यापारी भाग लेगा और सहमत भी है।
साथ ही उकलाना अनाज मंडी में भी सोमवार से अनिश्चितकालीन पूर्ण हड़ताल रहेगी। और व्यापारी नेता सतीश दनोदा ने बताया कि प्रदेश स्तरीय कमेटी के आह्वान के तहत अनाज मंडी में भी फसल की कोई खरीद नहीं होगी। साथ ही उन्होंने बताया कि ई ट्रेडिंग का कानून लाने के विरोध में पूरा प्रदेश के आढती हड़ताल पर जा रहे हैं। और ई ट्रेडिंग के माध्यम से व्यापार संभव ही नहीं है व सरकार व्यापारियों को बर्बाद करना चाहती है। साथ ही व्यापारी कोरोना काल से पहले ही मंदी की चपेट में है और ऐसे में ई ट्रेडिंग कानून लागू होने से अनाज मंडियां बंद होने के कगार पर पहुंच जाएगी।

सरकारी योजनाएं

सक्सेस स्टोरी