logo

Ambala Shamli Six Lane Express Way: हरियाणा के अंबाला से शामली तक बनेगा सिक्स लेन एक्सप्रेस वे, जानिए कौन से गांवों से गुजरेगा?

 | 
AMBALA SHAMLI NEW EXPRESS WAY

Ambala Shamli Six Lane Express Way: उत्तर प्रदेश के शामली से अम्बाला तक 121 किलोमीटर लंबे सिक्स लेन एक्सेस कंट्रोल्ड ग्रीनफील्ड हाईवे निर्माण को लेकर तेजी से काम किया जा रहा है। निर्माण के लिए तीन कंपनियों को जिम्मेदारी सौंपी गई है और अलग-अलग हिस्सों में कंपनियों ने अपनी मशीनरी स्थापित कर दिया है। उत्तर प्रदेश, हरियाणा और पंजाब को जोड़ने वाला यह हाईवे करनाल जिले की सीमा से होकर सात किमी क्षेत्र में चार गांवों से निकलेगा।

इंद्री क्षेत्र के चंद्राव, हंसुमाजरा, खुखनी व कलरी जागीर गांव के पास की जमीन आई है। यह हाईवे शामली, सहारनपुर से होते हुए करनाल, कुरुक्षेत्र से अम्बाला को जोड़ेगा जिससे वाहनों का सफर कम होगा और करनाल से निकलने वाले वाहनों का बोझ भी घटेगा। इस परियोजना की कुल लागत 4600 करोड़ रुपये है जिसमें से 3200 करोड़ रुपये सिविल वर्क और भूमि अधिग्रहण के लिए 1400 करोड़ रुपये की राशि खर्च होगी।

प्रदूषण राज्य नियंत्रण बोर्ड क्षेत्रीय अधिकारी शेलेंद्र अरोड़ा ने बताया कि शामली से अम्बाला तक छह लेन एक्सेस कंट्रोल्ड ग्रीनफील्ड हाईवे निर्माण को लेकर संबंधित गांवों के किसानों की आपत्तियों को दूर किया गया है। अधिकतर किसानों ने अधिगृहित भूमि का मुआवजा देने, नेशनल हाईवे के दोनों भूमि विभाजित होने बारे, पानी की निकासी सहित समस्या एवं शिकायतें रखी थीं, जिनका अधिकारियों ने समाधान का आश्वासन दिया है। पानी सप्लाई के लिए अंडरग्राउंड पाइपलाइन के अलावा किसानाें को खेतों तक पहुंचने के लिए रास्ता बनाने पर सहमति के बाद प्रदूषण पर नियंत्रण और निकासी संबंधित रिपोर्ट मुख्यालय को सबमिट कर दी गई थी।

हाईवे निर्माण के लिए भारतीय राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण के पत्र अनुसार जिला वन विभाग की ओर से गढ़ीबीरबल ब्लाक का निरीक्षण करने के बाद निर्माण मार्ग में 69 वृक्षों को चयनित किया गया था। नेवल चौगामा रोड के दोनों तरफ 59, हंसुमाजरा रोड किनारे पांच, खुखनी रोड के दाएं व बाएं पांच पेड़ गिने गए हैं। इसके निर्माण में अधिकतर हिस्सा कृषि भूमि से होकर गुजरता है। वन अधिकारी जयकुमार नरवाल ने बताया कि विभाग की ओर से संबंधित 69 पेड़ों की रिपोर्ट जमा करवा दी गई है और कटाई का कार्य दूसरी ब्रांच की ओर से किया जाना है।

नेशनल हाईवे अथारिटी आफ इंडिया के तकनीकी प्रबंधक अंकुश मेहता ने बताया कि भारतमाला परियोजना के तहत अम्बाला से शामली के बीच सिक्स लेन एक्सप्रेस-वे निर्माण के लिए तीन कंपनियों को टैंडर अलाट किया गया है। कंपनियों की ओर से संबंधित क्षेत्रों में अपनी मशीनरी स्थापित कर दी है। राजमार्ग का निर्माण होने से करनाल क्षेत्र को जहां काफी लाभ होगा वहीं औद्योगिक विकास में बढ़ोतरी होगी। व्यापार बढ़ने के साथ-साथ अर्थ व्यवस्था में सुधार होगा। यह हाईवे अम्बाला से कुरुक्षेत्र, करनाल, यमुनानगर, सहारनपुर, शामली जिले की सीमा से होता हुआ थाना भवन पहुंचेगा। जहां दिल्ली- शामली-सहारनपुर फोरलेन को जोड़ते हुए दिल्ली-देहरादून इकनामिक कारिडोर में मिलेगा। इस सिक्स लेन एक्सप्रेस-वे के निर्माण से हरियाणा, पंजाब, चंडीगढ़ से वेस्ट यूपी की राह आसान होगी।

सरकारी योजनाएं

सक्सेस स्टोरी