logo

Vastu Tips for Happiness: घर परिवार में खुशियां लाना है तो जरूर आजमाएं ये वास्तु टिप्स

Vastu Tips for Happiness पूजा कक्ष के बाद घर में रसोई घर ही सबसे ज्यादा पवित्र स्थान होता है। रसोई घर हमेशा साफ-सुथरा होना चाहिए। घर में खुशहाली लाना है कि लिविंग रूम में सकारात्मक पेंटिंग लगाना चाहिए
 | 
5

Vastu Tips for Happiness। वास्तु शास्त्र वास्तुकला का एक प्राचीन और विशाल विज्ञान है। वास्तु शास्त्र के कुछ आधारभूत नियमों को हम मंदिरों, महलों की विशाल और अद्भुत संरचनाओं को देख रहे हैं। प्राचीन ऐतिहासिक मंदिर जहां दिखने में काफी आकर्षक व सुंदर लगते हैं, वहीं दूसरी ओर इन मंदिर व महलों में कुछ देर ठहरना भी काफी सुकून देता है। ऐसे में यदि आप भी अपने घर में सुख शांति व समृद्धि चाहते हैं तो यहां दिए कुछ वास्तु नियमों का पालन जरूर करना चाहिए। घर या कार्यस्थल पर सकारात्मक और खुशहाल माहौल बनाने के लिए इन वास्तु नियमों का जरूर पालन करें -

घर के मुख्य द्वार को लेकर रखें ये सावधानी

वास्तु शास्त्र का सबसे पहला नियम यह कहता है कि घर या ऑफिस में शांति व समृद्धि के अनुकूल दिशा का पालन करना चाहिए। घर या ऑफिस का मुख्य द्वार घर में ऊर्जा का प्रवेश द्वार है, इसलिए मुख्य द्वार सबसे अच्छी दिशा में होना चाहिए। मेन गेट से घर में अच्छी रोशनी आना चाहिए और मुख्य द्वार चमकीला और सजावटी होना चाहिए। मुख्य द्वार के सामने खंभों, खंभों या वृक्षों जैसी कोई बाधा भी नहीं होना चाहिए। मुख्य द्वार उत्तम गुणवत्ता की लकड़ी से बना होना चाहिए। दरवाजे को खोलने या बंद करते समय कोई आवाज नहीं आना चाहिए। मुख्य द्वार के पास जूते की रैक या फर्नीचर न रखें। मुख्य द्वार पर ऊँचे स्थान पर भगवान गणेश की मूर्ति लगाना चाहिए।

रसोई घर को हमेशा साफ रखें

पूजा कक्ष के बाद घर में रसोई घर ही सबसे ज्यादा पवित्र स्थान होता है। रसोई घर हमेशा साफ-सुथरा होना चाहिए। किचन में गैस स्टोव और पानी के सिंक को कभी भी एक ही लाइन में न रखें क्योंकि ये दोनों आग और पानी जैसे अलग-अलग तत्व हैं। वे नकारात्मक ऊर्जा पैदा कर सकते हैं और परिवार में झगड़े को बढ़ा सकते हैं। किचन का दरवाजा घर के मुख्य गेट तरफ नहीं होना चाहिए।

लिविंग रूम में अपनाएं ये टिप्स

घर में खुशहाली लाना है कि लिविंग रूम में सकारात्मक पेंटिंग लगाना चाहिए। लिविंग रूम में भारी फर्नीचर दक्षिण-पश्चिम दिशा में रखना चाहिए। इसके अलावा लिविंग रूप में अनावश्यक फर्नीचर नहीं रखना चाहिए। वास्तु के अनुसार घर में टूटे हुए तख्त, चित्र और शीशे नहीं रखना चाहिए। बेडरूम में कभी भी कोई टीवी, लैपटॉप, कंप्यूटर या अन्य इलेक्ट्रॉनिक्स न रखें। शयनकक्ष में पूजा कक्ष नहीं होना चाहिए।

सरकारी योजनाएं

सक्सेस स्टोरी