logo

Chanakya Niti: अगर पुरुषों में हैं कुत्तों के ये 5 गुण तो नहीं होगी वैवाहिक जीवन में समस्या, पत्नी रहेगी हमेशा संतुष्ट

Chankaya Niti: व्यक्ति का जीवन में वफादार होना बहुत जरूरी है. आचार्य चाणक्य का कहना है कि हर व्यक्ति या जानवर से मनुष्य को कुछ चीजें सीखने चाहिए. आज हम जानेंगे कुत्ते के कुछ गुणों के बारे में,जो व्यक्ति के जीवन का सुगम बनाते हैं. 

 | 
j

Chankaya Niti For Men: आचार्य चाणक्य ने व्यक्ति के जीवन से जुड़ी कई महत्वपूर्ण बातों पर प्रकाश डाला है. चाणक्य की बातों का अनुसरण करके जीवन में सुख-सम-समृद्धि हासिल की जा सकती है. कई बार व्यक्ति की छोटी-छोटी चीजें उसके जीवन को बर्बाद करने के लिए काफी होती हैं. अक्सर लोगों को अपने वैवाहिक जीवन को लेकर सोचते-विचारते देखा जाता है. जीवन को खुशहाल बनाने के लिए पुरुष और स्त्री दोनों ही हर संभव जतन करते हैं. 

चाणक्य के अनुसार कई बार व्यक्ति के अवगुण और स्वभाव उसके जीवन से सुख-समृद्धि छीन लेता है. ऐसे में चाणक्य ने बताया है कि पुरुषों में अगर कुत्ते के ये 5 गुण शामिल हों, तो उनका वैवाहिक जीवन सुखमय रहता है. साथ ही, उनकी स्त्रियां संतुष्ट रहती हैं. आइए जानते हैं चाणक्य द्वारा बताए इन 5 गुणों के बारे में. 

1. जितना मिले उसमें संतुष्ट रहें- आचार्य चाणक्य का कहना है कि पुरुषों को अपनी शक्ति के हिसाब से ही काम करना चाहिए. और जितना धन मिले उसी में संतुष्ट रहना चाहिए. उसी धन से परिवार का पालन-पोषण करें. ऐसा करने वाले पुरुषों को ही श्रेष्ठ बताया गया है. चाणक्य ने इस बात की तुलना कुत्ते से की है. जैसे एक कुत्ते को जितना खाने को दो वे उतने में ही संतुष्ट हो जाता है. उसी प्रकार पुरुष के लिए भी कहा गया है. 

2. सावधान रहें- कुत्तों में एक गुण होता है कि वे सोते भी सतर्क होकर हैं. ऐसे ही घर के पुरुषों को होना चाहिए. उन्हें भी अपनी स्त्री, परिवार और कर्तव्यों को लेकर सतर्क होना चाहिए. शत्रओं से सावधान रहना चाहिए. साथ ही, भले ही वे कितनी भी गहरी नींद में क्यों न सो रहे हैं, स्त्री और परिवार के लिए उन्हें सतर्क होकर ही सोना चाहिए. ऐसे पुरुषों से महिलाएं हमेशा खुश रहती हैं. 

3. वफादारी है जरूरी-  कुत्ते की वफादारी की हमेशा से ही मिसालें दी जाती रही हैं. चाणक्य के अनुसार पुरुष को भी अपनी स्त्री के प्रति वफादारी दिखानी चाहिए. चाणक्य का कहना है कि जिस घर में पुरुष वफादार नहीं होते, वहां स्त्रियां कभी खुश नहीं रहती. वहीं, वफादारी वाले पुरुषों से स्त्री हमेशा खुश रहती है. 

4. वीरता भी है शामिल- आचार्य चाणक्य के अनुसार पुरुषों में कुत्ते के समान वीरता भी होनी जरूरी है. जैसे एक कुत्ता मालिक के लिए जान गंवा देता है. उसी प्रकार पुरुष को भी वीर होना चाहिए. अगर जरूरत पड़े तो अपनी स्त्री के लिए जान भी गंवा दें. इस तरह के पुरुष केवल भाग्यशाली महिलाओं को ही मिलते हैं. 

5. संतुष्ट रखना- चाणक्य के अनुसार एक पुरुष को हमेशा अपनी स्त्री का संतुष्ट रखना चाहिए. पुरुष को हमेशा अपनी पार्टनर की सभी तार्कक बातों को मानना चाहिए और भावनात्मक रूप से भी संतुष्ट रखना चाहिए. इससे पुरुष और स्त्री के बीच अच्छे मधुर संबंध बने रहेंगे

सरकारी योजनाएं

सक्सेस स्टोरी