logo

पानीपत पुलिस-बदमाशों की मुठभेड़:सरेंडर को कहा तो फायरिंग की; दोनों तरफ से 8 गोलियां चली, 2 घायल, टैक्सी वाले की हत्या की थी

 | 
पानीपत पुलिस

हरियाणा के पानीपत जिले की पुलिस और ट्रैक्सी ड्राइवर के हत्यारोपियों के बीच सोमवार रात को मुठभेड़ हुई। कई राउंड फायर के बाद पानीपत CIA-2 ने दोनों घायलों समेत 3 बदमाशों को काबू कर लिया। यह वही बदमाश हैं, जिन्होंने कुछ दिन पहले पानीपत के टैक्सी ड्राइवर मोहित सोनी को सोनीपत में मार कर फेंक दिया था।

मुठभेड़ में दोनों तरफ से 8 गोलियां चलीं। 4 गोलियां पुलिस और 4 बदमाशों ने चलाई। पुलिस की चलाई गोलियां बदमाशों के पैरों में लगीं। जिसमें अशोक निवासी लाहोरी और सचिन निवासी भिवानी घायल हो गया। तीसरा बदमाश दयानंद निवासी कैथल है। घायल बदमाशों को सिविल अस्पताल लाया गया, जहां कड़ी सुरक्षा में दोनों का इलाज चल रहा है। हत्यारोपियों ने प्रारंभिक पूछताछ में तहसील कैंप के ड्राइवर मोहित सोनी का अपहरण करने, लूटपाट करके हत्या करने की वारदात का खुलासा हुआ है।

सनौली एरिया के गांव शमशाबाद में हुई मुठभेड़
पुलिस टीम ने गुप्त सूचना के आधार पर हत्यारोपियों को पकड़ने के लिए सनौली एरिया के गांव शमशाबाद में दबिश दी। मुठभेड़ के दौरान पकड़े गए बदमाशों की पहचान अशोक लोहारी व सचिन निवासी विजय नगर, रोहतक के रूप में हुई है। इन दोनों बदमाशों के पैरों में गोली लगी है। दोनों सिविल अस्पताल में उपचाराधीन हैं, जबकि तीसरा आरोपी फिलहाल सनौली थाना की जेल में बंद है।

दोनों तरफ से चली 8 गोलियां
सीआईए टू प्रभारी इंस्पेक्टर वीरेंद्र कुमार ने बताया कि उनकी एक टीम गश्त के दौरान सनौली थाना के क्षेत्र गांव तमशाबाद में तैनात थी। इसी दौरान उन्हें सूचना मिली की लूटपाट कर हत्या करने के आरोपी फिर से वारदात को अंजाम देने की फिराक में घूम रहे हैं। सूचना के आधार पर पुलिस ने मौके पर दबिश दी। पुलिस को देखते ही बदमाशों ने ललकारा मारा कि पुलिस आ गई है। इसी बीच उन्होंने फायरिंग करनी शुरू कर दी।

पुलिस ने भी जवाबी फायर में पहले हवाई फायर कर बदमाशों को सरेंडर करने की चेतावनी दी, मगर बदमाश पुलिस की और ताबड़तोड़ गोलियां बरसाते रहे। जिस दौरान अपने बचाव में पुलिस ने बदमाशों के पैरों में गोली मारी और उन्हें मौके पर काबू कर लिया। पुलिस ने दो बदमाशों को गोली मार व एक बदमाश को सुरक्षित काबू किया है। आरोपियों से आगामी पूछताछ जारी है।

जवाबी कार्रवाई में बदमाश पकड़े गए : शशांक कुमार, SP, पानीपत
पानीपत के SP शशांक कुमार सावन ने कहा कि पुलिस ने जवाबी कार्रवाई करते हुए 3 बदमाशों को काबू कर लिया। घायल बदमाशों को पानीपत के सिविल अस्पताल में भर्ती कराया गया है। उनसे 32 बोर और 315 बोर का 1-1 देसी पिस्टल और बाइक बरामद की गई है। शुरूआती पूछताछ में उन्होंने पानीपत जिले की 2 बड़ी वारदातें कबूल की हैं।

आरोपी पानीपत के थाना तहसील कैंप निवासी मोहित सोनी को अक्टूबर में पानीपत से कार बुक कर सोनीपत ले गए थे। उन्होंने खरखौदा थाना क्षेत्र में मोहित सोनी की गोली मार हत्या की और कार लूट कर फरार हो गए थे।
आरोपियों ने थाना मतलौड़ा क्षेत्र के अंतर्गत अक्टूबर में गांव अलूपुर शराब ठेके पर हथियार के बल पर लूट की वारदात को अंजाम दिया।

14 अक्टूबर को की थी आरोपियों ने मोहित की हत्या
थाना तहसील कैंप में 15 अक्तूबर को राजेंद्र ने शिकायत दर्ज कराई। शिकायत में बताया गया कि वह प्रीत विहार कॉलोनी का रहने वाला है। उसने एक ब्रेजा कार ली हुई है। कार उसका बेटा मोहित सोनी चलाता था। 14 अक्टूबर को मोहित बुकिंग के लिए फोन आने पर गांव रसलापुर के लिए गया था।

शाम करीब 7:30 बजे मोहित ने घर पर फोन करके बताया कि रसलापुर में उसे सवारियां मिल गई हैं। सवारियों ने गाड़ी बुकिंग के लिए ऑनलाइन खाते में 290 रुपए डलवा दिए है। यहां से बुकिंग लेकर वह झज्जर के लिए जा रहा है। बहालगढ़ पहुंचने के बाद मोहित की कोई लोकेशन नहीं आई। पूरी रात मोहित का फोन ट्राई किया, लेकिन वह नहीं मिला।

राजेंद्र ने बताया कि उन्होंने पुलिस को मोहित के लापता होने की शिकायत दी। जांच पड़ताल करते हुए पुलिस को अज्ञात शव मिला, जो मोहित का निकला। जांच आगे बढ़ाते हुए पुलिस ने वारदात में शामिल आरोपी को पंकज निवासी गांव कवि जिला पानीपत को पकड़ लिया। उसकी निशानदेही पर ही गांव शमशाबाद में दबिश देकर अन्य आरोपियों को पकड़ा गया।

सरकारी योजनाएं

सक्सेस स्टोरी