logo

हरियाणा सरकार ने अपराधियों की अवैध संपत्ति पर चलाया बुल्डोजर, पुलिस और अन्य अधिकारियों की माैजूदगी में ढहाई गई संपत्ति #अवैध खा

अपराधियों पर शिकंजा कसने के लिए फरीदाबाद की पुलिस लगातार प्रयास कर रही है। सरकार के आदेश के अनुसार पुलिस ने इसी क्रम में शनिवार को बड़ी कार्रवाई करते हुए। सेक्टर 20 कृष्णा कॉलोनी में अवैध कमाई के जरिए बनाई गई इमारत को ध्वस्त किया गया है।
 | 
Haryana News
उत्तर प्रदेश की तरह ही अब हरियाणा में भी बुलडोजर का कहर देखने को मिल रहा है। हरियाणा में पुलिस अपराधियो की अवैध संपति पर पूरी तरह शिकंजा कसने के लिए पूरी तरह से एक्टिव दिखती दिखाई दे रही है।हरियाणा के फरीदाबाद में भी पुलिस लगातार कुख्यात अपराधी और नामी नशा तस्करों की अवैध संपत्ति को नष्ट करने में लगी हुई है।इससे साफ जाहिर है कि उत्तर प्रदेश की तरह सूबे में भी अब अपराधियों पर मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर का हंटर चल रहा है।
फरीदाबाद पुलिस पिछले कई दिनों से अपराधियों पर आर्थिक रूप से कड़ा प्रहार करती दिखाई दे रही है। पुलिस द्वारा अपराधियों पर करवाई करते हुए उनके अवैध धंधों को गहरा नुकसान पहुंचाया जा रहा है।बता दे की इसी क्रम में कृष्णा कॉलोनी में महिला अपराधी माया व उनके दो बेटों अरुण व तरुण द्वारा अवैध शराब का मामला, जुआ, लडाई झगडे का मामला व नशा तस्करी से लेकर कई मामले है। पुलिस ने इनकी संपत्ति को ध्वस्त करके महिला अपराधी माया के खिलाफ अवैध शराब व एनडीपीएस के 12 मामले दर्ज किए हैं।माया के बेटे अरुण के खिलाफ जुआ, अवैध शराब व एनडीपीएस के 14 मुकदमें दर्ज हैं। जबकि महिला के दूसरे बेटे तरुण के खिलाफ लड़ाई झगड़ा, एनडीपीएस व अवैध शराब के 4 मुकदमे दर्ज हैं। बता दे की माया इससे पहले अजरौंदा की रहेंने वाली थी।15 साल पहले माया के पति की मौत होने के बाद वह कृष्णा कॉलोनी में रहने लगी थी।माया ने हुड्डा की जमीन अवैध कब्जा करके झुग्गियां बनाने लगी। इसे बढ़ाते- बढ़ाते करीब 500 गज भूमि पर अवैध कब्जा कर लिया।बता दे की अवैध कब्जे की भूमि पर महिला और उसके बेटों ने मकान बनाए हुए थे। इसके अलावा आरोपियों ने बाकी बची जमीन पर कुछ कमरे अलग से बनावाए हुए थे। इन कमरों से महिला और उसके बेटे मिलकर किराये वसूलते थे।
आरोपी पिछले करीब 6-7 साल से अवैध शराब और अवैध नशा बेचने का धंधा करते थे। आरोपी इसके साथ साथ सट्टाखाई का अवैध धंधा करता थे। आरोपी कई मामलों में जेल की सजा भी काट चुके हैं। कुछ मामले अभी विचाराधीन है लेकिन अपराधी अपनी हरकतों से बाज नहीं आते।जेल से बाहर आने के बाद फिर से अवैध काम करना शुरू कर देते हैं।साथ ही बता दें कि इससे पहले भी पुलिस कौशल गैंग के गुर्गे नीरज फरीद पुरिया और उससे पहले मनोज मंगरिया गैंग के गुर्गे जावेद की भी अवैध संपत्ति पर बुलडोजर चलाकर कार्रवाई फरीदाबाद पुलिस की ओर से की जा चुकी है।

सरकारी योजनाएं

सक्सेस स्टोरी