logo

अंबाला में लंपी वायरस से 154 पशुओं की हुई मौत, 13 हजार संक्रमित

 | 
Haryana News
सड़कों पर घूम रहे गायों की समस्या को लेकर हरियाणा गोसेवा आयोग के चैयरमेन ने बताया कि अगले 6 महीने तक अंबाला की सड़कों पर एक भी गोवंश नहीं मिलेगा।
 हरियाणा सरकार ने हाई लेवल मीटिंग में निर्णय लिया है कि जिस तरह से कोरोना वायरस से लड़ाई लड़ी थी, उसी तरह से लम्पी वायरस से भी निपटना पड़ेगा।उन्होंने कहा कि हरियाणा की 19 लाख गायों के लिए 20 लाख टीके मंगवाए गए हैं।घर-घर जाकर और सभी गौशालाओं के अंदर गायों को वैक्सीनेट किया जाएगा।
गायों के वेक्सिनेशन को लेकर हरियाणा गौ सेवा आयोग के चेयरमेन ने बताया कि हरियाणा के अंदर युद्ध स्तर पर लम्पी वायरस से प्रभावित गौवंशों का टीकाकरण चल रहा है। 
स्चेयरमैन, हरियाणा गोसेवा आयोग ने बताया कि सड़कों पर घूम रहे आवारा गोवंशों को गोशाला ले जाकर उनका सही तरीके से इलाज भी किया जा रहा है।सड़कों पर घूम रहे गोवंश की समस्या को लेकर हरियाणा गोसेवा आयोग के चैयरमेन ने बताया कि अगले 6 महीने तक अंबाला की सड़कों पर एक भी गोवंश नहीं मिलेगा। 
अंबाला पशुपालन विभाग के डिप्टी डायरेक्टर डॉ. प्रेम सिंह ने बताया कि अंबाला में कुल 71 हजार गोवंश है। जिसमे से लगभग 13 हजार गोवंश लम्पी वायरस से प्रभावित हैं और 11 हजार के आसपास गोवंश ने रिकवर भी किया है।आपको बता दे कि लम्पी वायरस की वजह से अंबाला में अब तक 154 गोवंश की मृत्यु हो चुकी है। वहीं उन्होंने बताया कि लगभग 53 हजार गौवंशों का टीकाकरण हो चुका है।

सरकारी योजनाएं

सक्सेस स्टोरी