logo

रोहतक के घर में झाडू-पोछा न करने पर मां ने अपने नाबालिग बच्चों को पीटा, शिक्षक पिता ने दर्ज करवाया केस

बच्चों के पिता ने दी शिकायत में बताया कि 15 साल पहले उसकी शादी हुई थी। उसका एक बेटा 11 साल का तो दूसरा बेटा 13 साल का है। नौ दिन पहले उसे अपनी रिश्तेदारी में शोक व्यक्त करने जाना था। पिता के सामने ही पत्नी दोनों बच्चों को धमकाने लगी।
 | 
News

रोहतक शहर की एक कालोनी में दो नाबालिगों ने घर में झाड़ू-पोछा और बर्तन साफ नहीं किए तो उनकी मां ने दोनों को पीटा। जब शिक्षक पिता को यह बात पता लगा तो वह घर पहुंचे और अपनी पत्नी व सास-ससुर के खिलाफ जेजे एक्ट व आईपीसी की धारा 323 के तहत मामला दर्ज कराया।
वह पत्नी को बच्चों को तंग न करने की बात कहकर चला गया। बता दे कि शाम चार बजे बेटे का फोन आया। बोला कि नाना-नानी आए हुए हैं। मां ने नाना और नानी ने मिलकर दोनो बच्चों को पीटा और बोले तेरे पिता को भी जान से मार देंगे। डर के मारे दोनों बच्चे कमरे के अंदर चले गए और कुंडी बंद कर ली। उसने तुरंत पुलिस हेल्पलाइन नंबर पर कॉल की।जब वह घर पहुंचा तो पुलिस आ चुकी थी। पुलिस के सामने बच्चों की मां व नानी ने दोनों बेटों को पीटने की बात मानी। इसके बाद वह दोनों बच्चों को सरकारी अस्पताल में ले गया और वहां उनका मेडिकल कराया।
बेटा बोला, मां का घर का काम करवाती थी। 
शिकायकर्ता के मुताबिक उसके बेटे ने अस्पताल से घर आते समय उसे बताया कि उसकी मां दोनों से घर का काम करवाती है। झाड़ू और पोछा करवाने के साथ बर्तन साफ भी करवाती है। मना करने पर मारती है। अब तक डर के मारे उन्होंने पिता को नहीं बताया। शिकायतकर्ता ने कहा कि उसे व उसके बच्चों को जान खतरा बना हुआ है। पुलिस को बताया कि उसके पास रिकार्डिंग है, जिसे जरूरत पड़ने पर पुलिस को सौंप देंगे। पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच पड़ताल शुरू कर दी है।

सरकारी योजनाएं

सक्सेस स्टोरी