logo

My Story: पैसों के खातिर मैंने एक ऐसे आदमी से शादी कर ली, जिसके लिए मेरे दिल में कोई प्यार नहीं है

 | 
MY STORY

My Story:  मैं एक शादीशुदा महिला हूं। मैंने एक ऐसे व्यक्ति से शादी की है, जिससे मैं प्यार तो नहीं करती लेकिन उसके साथ मेरी सारी जरूरतें पूरी हो रही हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि मैंने बचपन से ही बहुत ज्यादा गरीबी देखी थी, जिसकी वजह से मैं हमेशा एक अच्छी लाइफस्टाइल चाहती थी। मुझे ऐसा जीवन मिला भी और मैं बेहद खुश हूं।

'न उम्र की सीमा हो, न जन्म का हो बंधन... जब प्यार करे कोई, तो देखे केवल मन...' किसी ने ठीक कहा है कि प्यार रंग-रूप नहीं देखता। प्यार करने वाले तो केवल एक-दूसरे का मन देखते हैं। मेरे साथ भी बिल्कुल ऐसा ही हुआ। दरअसल, यह बात उस समय की है, जब मैं अपने करियर में बहुत ही बढ़िया कर रही थी। मुझे न केवल अपने काम से प्यार था बल्कि मैं हर दिन आगे बढ़ने के बारे में सोचती थी। शायद इसका सबसे बड़ा कारण क्योंकि मेरे भाई-बहन और मैं अपनी दादी के घर में पले-बढ़े थे।

दरअसल, जब हम सभी छोटे थे, तो एक कार दुर्घटना में हमारे माता-पिता का देहांत हो गया था, जिसकी वजह से हम सभी ने काफी बुरे दिन देखे थे। हम सभी न केवल एक छोटे से शहर में रहते थे बल्कि मेरे ऊपर मेरे भाई-बहनों की जिम्मेदारी भी थी। यही एक वजह भी है कि मैं अपनी लाइफ में बहुत आगे बढ़ना चाहती थी। ऐसे में जब मैं 18 साल का हुई, तो मैंने घर छोड़ दिया। इस दौरान स्कॉलरशिप से मुझे जो पैसे मिले थे, उससे न केवल मैंने अपनी आगे की पढ़ाई पूरी की बल्कि कड़ी मेहनत के बाद मुझे सेल्स में अच्छी नौकरी भी मिल गई।

मैं अच्छे से जानती थी कि आप जितने बेहतर होंगे, आप उतने ही ज्यादा पैसे कमाएंगे। यही वह मंत्र था, जिसका मैंने हमेशा अपने करियर में पालन किया था। हालांकि, मुझे यह भी पता था कि इतने पैसों से मेरा कुछ नहीं होने वाला है। ऐसा इसलिए क्योंकि मेरे भाई-बहन और मेरी बीमार दादी केवल मुझ पर ही भरोसा करती थीं।

उसने मेरी जमकर तारीफ की थी

मैं एक ऐसी कंपनी में काम कर रही थी, जहां आए दिन सेल्स पार्टी का होना बहुत ही नॉर्मल था। एक दिन मैं भी बिल्कुल ऐसी एक पार्टी में शामिल होने पहुंची थी। हालांकि, यह पार्टी हमारे ग्राहकों ने हमारे लिए रखी थी, जिसमें मेरी पूरी टीम मौजूद थी। इस दौरान हम सभी ने न केवल साथ में बीयर पी बल्कि खूब मौज-मस्ती भी की। ऐसे में वो समय भी आया जब क्लाइंट्स ने मेरी कड़ी मेहनत के लिए मेरी खूब तारीफ की। इतना सब कुछ चल ही रहा था कि ठीक उसी समय एक आदमी मेरे पास आया और उसने मुझसे हाथ मिलाया।

वह देखने में मुझसे काफी बड़ा लग रहा था। उसको ग्रे दाढ़ी थी, जो पूरी तरह से ट्रिम थी। वह देखने में भी काफी ज्यादा स्मार्ट था। उसकी स्माइल भी बहुत प्यारी थी, जो उस पर काफी अच्छी भी लग रही थी। उसे देखकर मैं एक पल के लिए ठिठक गई। लेकिन अगले ही पल मैंने उसे अपनी तारीफ करने के लिए धन्यवाद कहा। असल में वह एक वकील था। उसका व्यक्तित्व शानदार था। सच कहूं तो कुछ ही देर की बातचीत में मैं उसमें खो गई थी। हालांकि, मुझे बाद में पता चला कि वह तलाकशुदा था।

हम दोनों डिनर पर मिले

वह मुझसे काफी बड़ा था, जिसकी वजह से मेरे पास उससे बात करने का कोई ठोस कारण नहीं था। हालांकि, इस पार्टी के बाद हम दोनों एक बार डिनर पर मिले थे। इस दौरान हम दोनों की काफी बातचीत हुई। मुझे भी उससे बात करके बहुत अच्छा लगा था। शायद ऐसा इसलिए क्योंकि मैं पहली ही नजर में उस पर अपना दिल हार चुकी थी। मुझे उससे प्यार हो गया था।

हालांकि, यह सब मैंने उसको नहीं बताया था। इस डिनर के बाद हमने न केवल टेक्स्ट और कॉल के जरिए एक-दूसरे को जानना शुरू किया बल्कि हम पहले से भी ज्यादा करीब आ गए।

इतना ही नहीं, उसके साथ रहने के विचार ने मुझे सबसे ज्यादा सुरक्षित भी महसूस कराया था। मुझे पता था कि अगर मैंने इस आदमी से शादी कर ली, तो मुझे लाइफ में कभी भी वित्तीय समस्या का सामना नहीं करना पड़ेगा। शायद यही एक वजह भी थी कि पहली मुलाकात के बाद से वह मेरे दिल में जगह बनाने लगा था।

मैंने उसे अपनी दादी से मिलवाया

हम दोनों अपनी-अपनी लाइफ में आगे बढ़ ही रहे थे कि इसी बीच मैंने उसे अपने परिवार के बारे में बताया। उसने न केवल मुझे धैर्य से सुना बल्कि मेरे परिवार से मिलने की उत्सुकता भी दिखाई। एक सप्ताह बाद मैं उसे अपनी दादी के घर लेकर गई। हालांकि, इतने बड़े आदमी को मेरे साथ देख मेरी दादी बहुत गुस्सा थीं।

इस दौरान उन्होंने मुझसे कहा भी था कि समाज हमें कभी भी एक सामान्य जोड़े के रूप में नहीं देखेगा। उनकी इस बात को सुनकर न केवल मेरा दिल टूट गया बल्कि मुझे काफी गुस्सा भी आया। ऐसा इसलिए क्योंकि यह सब मैं केवल उन सब के लिए ही कर रही थी।

हमने शादी कर ली

अपनी दादी से मिलवाने के बाद मैंने उससे अपने दिल की बात कह दी। वह भी मुझे बहुत चाहता था। इस दौरान उसने मुझे बताया कि वह मुझसे शादी करना चाहता है। बस फिर क्या... हम दोनों ने एक-दूसरे से शादी कर ली। शादी के बाद उसने मुझे इतना खास महसूस कराया, जिसकी मैंने कभी कल्पना भी नहीं की थी। उसने मुझे वह सभी चीजें दिलाई, जिन्हें मैं हमेशा से लेना चाहती थी। उसने न केवल मेरे लिए मेरी पहली कार खरीदी बल्कि मुझे खूब सारे तोहफे भी दिए।

इतना ही नहीं, उसने मेरी दादी के इलाज का खर्च भी उठाया। भले ही मेरे मन में उसके लिए प्यार की कोई भावना नहीं थी, लेकिन इसके बाद भी मैं उसे बहुत पसंद करती हूं। सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि उसने मेरी देखभाल की। उसने मुझे वो लाइफस्टाइल दी, जो मैं हमेशा से जीना चाहती थी।

एक समय ऐसा भी आया था, जब उसने मुझसे पूछा कि मैं काम करना बंद कर सकती हूं ताकि मैं अपने शौक पर अधिक ध्यान दे सकूं। लेकिन मैंने ऐसा करने से साफ मना कर दिया। ऐसा इसलिए क्योंकि मैं स्वतंत्र होने का रोमांच खोना नहीं चाहती थी।


 

सरकारी योजनाएं

सक्सेस स्टोरी