logo

My Story: मेरी जिंदगी में दो आदमी हैं, समझ नहीं आ रहा इसे कैसे संभालू? मैं काफी परेशान हूं

मैंने अपने पति से अरेंज मैरिज की थी। इसलिए हमें एक-दूसरे को समझने में थोड़ा समय लगा। हालांकि, हम दोनों साथ में बेहद खुश हैं। हमारे बीच किसी तरह की कोई दिक्कत भी नहीं है। लेकिन इसके बाद भी मैं अपने एक्स को लेकर पागल होती जा रही हूं। सच कहूं तो मैं दो लोगों के प्यार में हूं। मुझे समझ नहीं आ रहा कि मैं क्या करूं।
 
 | 
MY STORY

My Story: मैं एक शादीशुदा महिला हूं। मेरी शादी में किसी तरह की कोई दिक्कत नहीं है। मैं अपने पति से बहुत प्यार करती हूं। लेकिन मेरी समस्या यह है कि मेरी जिंदगी में दो आदमी हैं। दरअसल, मैं अपने एक्स के लिए भी रोमांटिक भावनाएं महसूस करती हूं। मुझे उसकी कुछ ऐसी चीजें याद आती हैं, जो मुझे उससे अब भी प्यार करने के लिए मजबूर करती हैं। हालांकि, मेरे वर्तमान जीवन में सभी सुख-सुविधाएं हैं, लेकिन सच कहूं तो रोमांस को लेकर कोई जुनून नहीं है।

मुझे पता है कि मेरे पति बहुत मेरी परवाह करते हैं। मैं भी उनकी परवाह करती हूं। लेकिन इसके बाद भी मैं अपनी शादी में अकेलापन महसूस करती हूं। मैं आपसे छिपाना नहीं चाहती मुझे कभी-कभी इतना डर लगता है कि मैं अपने पति के नाम के बजाए कहीं अपने एक्स बॉयफ्रेंड का नाम न ले लूं। मेरे लिए दो लोगों को संभालना थोड़ा मुश्किल होता जा रहा है। इतना ही नहीं, मेरे पति भी इन सब चीजों को नोटिस कर रहे हैं। मैं अपनी शादी को बर्बाद नहीं करना चाहती हूं। लेकिन मैं इस सबसे बाहर भी नहीं निकल पा रही हूं। 

MY STORY

एक्सपर्ट का जवाब

क्यूआरजी सुपर स्पेशलिटी हॉस्पिटल में क्लिनिकल साइकोलॉजिस्ट डॉ. जया सुकुल कहते हैं कि मुझे लगता है कि आपको अपने पति से बैठकर बात करनी चाहिए। ऐसा इसलिए क्योंकि आप एक ऐसी भावना से गुजर रही हैं, जो आने वाले समय में आपको नुकसान पहुंचा सकती है। बिना किसी डर और निर्णय के, अपने साथी के साथ अपनी जरूरतों के बारे में चर्चा करें। उनसे पूछें कि वह इस रिश्ते को बेहतर बनाने के लिए क्या करना चाहते हैं।

मैं आपसे ऐसा करने के लिए इसलिए कह रहा हूं क्योंकि जब आप एक बार जान जाते हैं कि आपका साथी आपसे क्या चाहता है, तो उसके बाद अपनी मैरिड लाइफ को सफल बनाना आसान हो जाता है। इतना ही नहीं, आपको बता दूं, जब हम किसी से बिना शर्त के प्यार करते हैं, तभी हम उसका प्यार महसूस कर पाते हैं।

MY STORY

पति की एक्स के साथ तुलना न करें

इस विषय पर प्रिडिक्शन फॉर सक्सेस के संस्थापक और रिलेशनशिप कोच विशाल भारद्वाज कहते हैं कि मैं आपकी परेशानी से अच्छे से वाकिफ हूं। लेकिन आपको बता दूं कि भावनाएं बहुत ही सरल नियम का पालन करती हैं, जितना अधिक प्रयास आप उन्हें पार करने के लिए करते हैं, वह उतनी ही बढ़ती जाती हैं। ऐसे में सबसे अच्छा तरीका यह है कि आप अपने प्रेमी को लेकर सोचना बंद कर दें।

ऐसा इसलिए क्योंकि आप उनके बारे में जितना सोचेंगी उतनी ही उसकी यादें आपके ऊपर हावी होती जाएंगी। आप अपने पति के साथ अपने रिश्ते पर ध्यान। अपने एक्स के साथ उनकी तुलना न करें।

MY STORY

अपनी शादी पर ध्यान दें

मैं यह बिल्कुल नहीं कह रहा हूं कि अतीत को याद करना गलत है। लेकिन जब आप किसी और के साथ रिश्ते में हो, तो वहां ये चीजें आपको नुकसान पहुंचा सकती हैं। यह आपके साथी के मन में बहुत अधिक संदेह पैदा कर सकता है, जोकि किसी भी रिश्ते के लिए बहुत खराब स्थिति होती है।

ऐसे में मैं यही कहूंगा कि अपनी शादीशुदा जिंदगी पर ध्यान दें। अपने पति के साथ ज्यादा से ज्यादा समय बिताएं। उन्हें इस बात का भरोसा दिलाएं कि आप उनसे कितना ज्यादा प्यार करती है। यही नहीं, अगर वह रोमांस में कच्चे हैं, तो आप खुद भी इसकी पहल कर सकती हैं।

सरकारी योजनाएं

सक्सेस स्टोरी