logo

अक्टूबर से दिल्ली में हरियाणा की बीएस-4 बसों की एंट्री नहीं, दिल्ली सरकार ने लिखा पत्र, हरियाणा ने मार्च तक का मांगा समय

 | 
Haryana news
 अक्टूबर से बीएस-4 की बसों की दिल्ली में एंट्री नहीं होगी।दिल्ली सरकार ने इसके लिए हरियाणा सरकार को पत्र भी लिखा है कि बीएस-4 की बसों को 1 अक्टूबर से दिल्ली में एंट्री नहीं मिलेगी।ऐसे में हरियाणा और दिल्ली के बीच फिर मामला बिगड़ता दिख रहा है।क्योंकि हरियाणा से कई बसें दिल्ली जाती हैं। इनमें लगभग 50,000 से ज्यादा लोग सफर करते हैं।आपको बता दे की इस पूरे मामले पर परिवहन मंत्री मूल चंद शर्मा ने कहा है कि हमने दिल्ली से मार्च महीने तक का वक्त मांगा है।
दिल्ली सरकार एक अक्टूबर से हरियाणा की बीएस-4 की बसों की एंट्री राज्य में बंद कर रही है। दिल्ली सरकार ने हरियाणा सरकार को पत्र लिखा है।इस पत्र में कहा गया है कि एक अक्टूबर से बीएस-4 की बसों को दिल्ली में एंट्री नहीं मिलेगी।
वहीं इस पूरे मामले को लेकर हरियाणा के परिवहन मंत्री मूलचंद शर्मा ने कहा कि ये बात बिल्कुल सही है कि, दिल्ली सरकार ने 1 अक्टूबर से दिल्ली में बीएस 4 बसों को बंद करने का फैसला लिया गया है।हमने उनसे मार्च तक बीएस 4 बसों को चलाने की इजाजत मांगी है। क्योंकि अभी हमारे पास करीब सवा सौ बसें बीएस 6 हैं।
मंत्री मूलचंद शर्मा ने कहा कि मार्च तक हम दिल्ली जाने वाली सभी बसों को बीएस 6 कर लेंगे। इन सभी बसों की बॉडी गुरुग्राम में तैयार को जा रही है।मार्च के बाद हम बीएस 6 बसें ही दिल्ली भेजेंगे।उन्होंने कहा कि यह समस्या सिर्फ हरियाणा की ही नहीं है उत्तर प्रदेश, राजस्थान और पंजाब की भी है।
मंत्री मूल चंद शर्मा ने कहा कि दिल्ली में सभी बसें बीएस 6 कर ली गई हैं।इस मामले में दिल्ली सरकार को पड़ोसी राज्यों से भी बात करनी चाहिए कि कब तक वे अपनी बसों को बीएस 6 कर लेंगे। कि सिर्फ पत्र जारी कर रोक लगा देना चाहिए।इसके साथ ही उन्होंने कहा कि हरियाणा कोशिश करेगा कि मात्र बीएस 6 बसें दिल्ली भेजें और हम मार्च तक यह काम पूरा कर लेंगे।
परिवहन मंत्री ने कहा कि अभी तक हमारी 809 बसों की चेसिस बीएस 6 की आ चुकी है। इसके साथ ही उन्होंने कहा कि हमारी 600 से 650 बसें दिल्ली जाती हैं। उन्होंने यह भी कहा कि हमारी पूरी कोशिश रहेगी कि हम दिल्ली में बीएस 6 बसें ही भेजें।
आपको बता दें कि एक अप्रैल 2020 से बीएस-6 मानक लागू किया गया है। इससे पर्यावरण की शुद्धता पर पर भी असर पड़ रहा है।इसी वजह से हरियाणा सरकार की बीएस-6 मानक वाली 809 नई बसें दिसंबर तक चलाने की योजना बनाई गई थी।इसके बाद मार्च 2022 फिर जुलाई और फिर अगस्त में बसें रूट पर लाने की बात कही है। इसके बाद अब मार्च 2023 तक बीएस 6 बसें हरियाणा रोडवेज के बेड़े में शामिल किए जाने की बात कही जा रही है।

सरकारी योजनाएं

सक्सेस स्टोरी