logo

'कुबूल है' अभिनेत्री निशी सिंह भादली ने इस दुनिया को अलविदा कह दिया, दो दिन पहले ही उन्होंने अपना 50वां जन्मदिन मनाया

Nishi Singh Death: कुबूल है सीरियल में काम कर चुकीं निशी सिंह का रविवार की दोपहर 3 बजे निधन हो गया.
 | 
4

Nishi Singh Dies: 'कुबूल है', 'इश्कबाज', 'तेनाली राजा' जैसे कई सीरियल्स में काम कर चुकी अभिनेत्री निशी सिंह भादली ने इस दुनिया को अलविदा कह दिया है. पैरालिसिस अटैक के बाद निशी सिंह बीमार चल रही थीं, दो दिन पहले ही उन्होंने अपना 50वां जन्मदिन मनाया था. उनकी आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं चल रही थी, जिसके बाद उनके पति ने मेडिकल के खर्चे के लिए मदद भी मांगी थी. एक्ट्रेस सुरभि चंदना और इंडस्ट्री के कुछ अन्य लोगों ने उनकी आर्थिक मदद की थी. निशी अपने पीछे पति संजय सिंह भादली और दो बच्चों को छोड़ गई हैं. निशी सिंह भादली की निधन की खबर से टीवी इंडस्ट्री में शोक की लहर है. अभिनेत्री लंबे समय से गंभीर बीमारी से जूझ रही थीं.

अभिनेत्री निशी सिंह की आयु 50 वर्ष थी और 16 सितंबर को ही परिवार ने उनका जन्मदिन सेलिब्रेट किया था. अभिनेत्री के पति ने बताया कि वैसे तो वह बीमार थीं और चलने फिरने में असमर्थ थी और बात नहीं कर पा रही थीं लेकिन बहुत खुश लग रही थीं. ईटाइम्स से बात करते हुए, संजय ने कहा, "3 फरवरी (पहले स्ट्रोक के एक साल बाद) को दूसरा स्ट्रोक होने के बाद, वो ठीक होने लगी थीं. हालांकि, मई 2022 में उसे एक और स्ट्रोक आया और उनका स्वास्थ्य बिगड़ने लगा, उन्हें अस्पताल ले जाया गया और बाद में उन्हें छुट्टी दे दी गई. पिछले कुछ हफ्तों में, गले में गंभीर संक्रमण के कारण उनका खाना मुश्किल हो गया, उन्होंने ठोस खाना बंद कर दिया और हम उसे केवल तरल पदार्थ ही खिला सके. सबसे बड़ी विडंबना यह है कि हमने निधन से दो दिन पहले ही उनका 50 वां जन्मदिन मनाया. हालांकि वह बात नहीं कर सकती थी, लेकिन वह बहुत खुश लग रही थी."

संजय सिंह ने आगे बताया, जिंदा रहने के लिए उन्होंने कड़ा संघर्ष किया, दोपहर करीब 3 बजे उनका निधन हो गया. सबसे बड़ी तकलीफ तो ये है कि 32 साल तक साथी रहीं, उनकी तबीयत ठीक नहीं थी, तब भी वह मेरे साथ थीं। अब मेरे बच्चों (21 साल का बेटा और 18 साल की बेटी) के अलावा कोई नहीं है. मेरी बेटी ने मां की देखभाल के लिए अपनी पढ़ाई छोड़ दी थी. आदमी जब हारता है तो हर तरफ से हारता है. संजय सिंह ने बताया कि इंडस्ट्री के कई दोस्तों ने उनकी आर्थिक रूप से मदद की थी। इनमें रमेश तौरानी, गुल खान, सुरभि चंदना और CINTAA है.

सरकारी योजनाएं

सक्सेस स्टोरी