logo

हरियाणा में अवैध तरीके से चलाए जा रहे ब्लड सेंटर पर कड़ी कार्रवाई, आरोपी के खिलाफ की गई FIR दर्ज

 | 
News
हरियाणा। हाल ही में हरियाणा फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन ने फर्जी डॉक्यूमेंट्स के जरिए एक ब्लड सेंटर का लाइसेंस लेने वाले एक व्यक्ति के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई है। साथ ही हरियाणा के फूड एंड ड्रग एडमिनिस्ट्रेशन ने गैर कानूनी तरीके से चलाए जा रहे एक ब्लड सेंटर पर कड़ी कार्रवाई की हैं। 
साथ ही हिसार के एक व्यक्ति के द्वारा फर्जी ब्लड सेंटर का डॉक्यूमेंट्स के लाइसेंस लेने के आरोप में एफआईआर दर्ज की है। साथ ही पुलिस ने यह भी बताया कि आरोपी संदीप ने अपने डॉक्यूमेंट्स में खुद को गुरुग्राम सेक्टर 90 के आरवी हेल्थकेयर एंड सुपेटस्पेसलीस हॉस्पिटल के मैनेजर के रूप में दिखाया जोकि फर्जी था। साथ ही साथ इसने इस अस्पताल के नाम से ही एक ब्लड सेंटर के लिए लाइसेंस लेने के लिए आवेदन किया था।
साथ ही इस मामले में आरवी हेल्थकेयर एंड सुपरस्पेशलिटी अस्पताल ने भी पुलिस को 15 सिंतबर को एक शिकायत की थी। पुलिस ने अपनी शिकायत में बताया कि एक व्यक्ति ने डॉक्टरों और निदेशकों के हस्ताक्षर के दुरुपयोग का किया है और फिर पुलिस ने अधिकारियों की शिकायत पर आरोपी के खिलाफ गुरुवार को मामला दर्ज किया गया है।
साथ ही इसके बाद एफडीए की एक टीम ने इस मामले का पर्दाफाश करते हुए खेड़की दौला, गुरुग्राम के थाना SHO को एफआईआर दर्ज करने का आदेश दिया और वहीं पुलिस ने आरोपी के खिलाफ में आईपीसी की धारा 420, 467, 468, 471, 120 आदि के तहत FIR दर्ज की है
 आपको बता दे कि हरियाणा स्वास्थ्य मंत्री अनिल विज ने इस तरह की हो रही घटनाओं को लेकर गुरुवार को एक प्रेस रिलीज जारी की। और जिसमें स्वास्थ्य मंत्री ने यह कहा है कि ब्लड सेंटर कानून के अनुसार चलें और अगर कोई भी बल्ड सेंटर अवैध गतिविधियो या फर्जी में शामिल पाया जाता है तो ऐसे लोगों और ऐसे सेंटरों पर सख्ती से करवाई की जायेगी। साथ ही हरियाणा सरकार ने अब तकइस तरह के मामलों में नौ एफआईआर दर्ज की हैं, जिसमें की 15 बल्ड सेंटर के लाइसेंस भी निलंबित हुए हैं।

सरकारी योजनाएं

सक्सेस स्टोरी