logo

नंद ग्राम, कवि नगर और विजय नगर की महिलाओं को किया गया अरेस्ट, गिरफ्तार महिलाओं ने खोला राज

यूपी की गाजियाबाद में पुलिस ने तीन महिलाओं को अरेस्ट किया है, जो लाइव चैट के दौरान आकर्षक अदाएं दिखाकर आपत्तिजनक वीडियो बनाकर पुरुषों को ब्लैकमेल करती थीं. पुलिस का कहना है कि कॉल और ब्लैकमेलिंग का खेल करने वाले इस गैंग के अन्य सदस्यों की तलाश की जा रही है.
 | 
4

उत्तर प्रदेश की गाजियाबाद पुलिस ने एक ऐसे गैंग की महिलाओं को गिरफ्तार किया है, जो लोगों को अपने जाल में फंसाकर उनकी आपत्तिजनक वीडियो बना लेती थीं. इसके बाद उसी वीडियो को वायरल कर देने की धमकी देकर उन्हें ब्लैकमेल करती थीं. पुलिस ने गैंग की तीन महिलाओं के पास से मोबाइल फोन, कैमरे, वेबकैम, चेक बुक और कैश बरामद किया है. पुलिस उनसे पूछताछ कर रही है.

दरअसल, गाजियाबाद पुलिस को शिकायत मिल रही थी कि महिलाओं का एक गैंग पुरुषों को एक वेबसाइट के जरिए दोस्ती और चैटिंग के नाम पर ईमेल भेजता था. इसके बाद जब कोई युवक उस पर रिप्लाई करता था तो महिला उसके संपर्क में आकर उससे बातचीत करना शुरू कर देती थी.

महिला युवक को अपनी बातों में फंसाकर आसानी से घुलमिलकर जाती थी. इसके बाद उससे लाइव वीडियो चैट पर बातें करने लगती थी. इसी वीडियो चैट के दौरान महिला आपत्तिजनक दृश्य दिखाकर स्क्रीनशॉट ले लेती थीं. इसके बाद महिला का असली रूप सामने आता था. महिला युवक को स्क्रीनशॉट वायरल कर बदनाम करने की धमकी देती थी. इससे डरकर युवक उसके जाल में फंस जाते थे और ब्लैकमेलिंग का शिकार होते थे.

पुलिस के अनुसार, आरोपियों ने अपने मोबाइल से वेबकैम को जोड़ते हुए पूरा सेटअप तैयार कर रखा था, जिससे वेबसाइट पर आने वाले शख्स को फंसाकर उसका वीडियो बनाया जाता था.

नंद ग्राम, कवि नगर और विजय नगर की महिलाओं को किया गया अरेस्ट

पुलिस से इस सिलसिले में नंद ग्राम, कवि नगर और विजय नगर की महिलाओं को अरेस्ट किया है. वहीं एक अन्य महिला और गैंग से जुड़ा आकाश नाम का शख्स अभी फरार बताया जा रहा है.

पुलिस को इन महिलाओं के मोबाइल से कई पुरुषों के आपत्तिजनक वीडियो मिले हैं. जिनके जरिए ब्लैकमेलिंग की जा रही थी. इस मामले को लेकर पुलिस अधिकारियों का कहना है कि ब्लैकमेलिंग करने वाले इस गैंग के अन्य सदस्यों की तलाश की जा रही है. वहीं गिरफ्तार तीन महिलाओं से सख्ती से पूछताछ की जा रही है. पूछताछ में कुछ और नाम सामने आ सकते हैं.

सरकारी योजनाएं

सक्सेस स्टोरी