nigamratejob-logo

Haryana News: हरियाणा मे बेमौसमी बारिश से खराब हुई फसल मुआवजे के दावों में फर्जीवाड़ा, क्षतिपूर्ति पोर्टल पर जमीन, खाता, मोबाइल नंबर का सही नहीं है मिलान

हरियाणा में बेमौसमी बारिश से खराब हुई फसल के मुआवजे को लेकर क्षतिपूर्ति पोर्टल पर फर्जी डाटा भरे जानी की शिकायतें हरियाणा सरकार के पास आई हैं। 
 | 
हरियाणा मे बेमौसमी बारिश से खराब हुई फसल मुआवजे के दावों में फर्जीवाड़ा

Haryana News: हरियाणा में बेमौसमी बारिश से खराब हुई फसल के मुआवजे को लेकर क्षतिपूर्ति पोर्टल पर फर्जी डाटा भरे जानी की शिकायतें हरियाणा सरकार के पास आई हैं। 

पोर्टल पर अपलोड डाटा में जमीन किसी दूसरे किसान के नाम है, जबकि पोर्टल पर बैंक खाता और मोबाइल नंबर किसी दूसरे का दिखाया गया है।

मामले की गंभीरता को देखते हुए हरियाणा सरकार ने प्रदेश के सभी डीसी को निर्देश दिए हैं कि 

वह अपने-अपने जिलों में किसानों की क्षतिपूर्ति पोर्टल पर बैंक खाता और मोबाइल नंबर की जांच कर लें, ताकि किसी गलत व्यक्ति के खाते में मुआवजा राशि न जाए। 

राजस्व विभाग के प्रवक्ता का कहना है कि मुआवजा असली किसान को ही दिया जाएगा।

दरअसल, बारिश से नुकसान की भरपाई के लिए राज्य सरकार ने किसानों की सुविधा के लिए स्वयं किसानों को अपने नुकसान का ब्यौरा दर्ज करवाने का विकल्प दिया था। 

प्रदेश के एक लाख से अधिक किसानों ने 17 लाख एकड़ फसल खराब होने का दावा किया हुआ है। सरकार इसकी गिरवादरी करवा रही है।

इसी बीच कुछ किसानों ने शिकायत की है कि जब वे अपना ब्यौरा ऑनलाइन-क्षतिपूर्ति पोर्टल पर दर्ज करवाने गए तो पता चला कि 

उनकी जमीन के मालिक के तौर पर बैंक खाता नंबर और मोबाइल नंबर किसी अन्य व्यक्ति ने दर्ज करवा रखे हैं जो कि सरासर धोखाधड़ी है। 

उन्होंने आशंका जताई कि ऐसे मामले अधिकतर उन किसानों के सामने आते हैं जो कम पढ़े-लिखे हैं।

हरियाणा सरकार ने किसानों से कहा कि वह क्षतिपूर्ति पोर्टल पर अपने-अपने बैंक खाते व मोबाइल नंबर की जांच कर लें। 

अगर गड़बड़ी मिलती है तो तुरंत प्रभाव से अपने क्षेत्र के तहसीलदार या एसडीएम को दें।

डिटेल की जांच ekharid.haryana.gov.in/Grievance/FarmerSearch.aspx पोर्टल पर कर सकते हैं।

चरखी दादरी में गड़बड़ी मिली


1- गांव दातौली निवासी दयानंद के किला नंबर-39/108 कनाल, किला नंबर-39/10-08 कनाल, किला नंबर-39/11-09 कनाल व 12 मरला जमीन को बिजेन्द्र वासी कारीरूपा व मुकेश वासी नौरंगाबास जाटान ने अपने खाते पर चढ़वाया।
2- गांव चांगरोड में अशोक कुमार की तीन एकड़ जमीन को पवन कुमार निवासी चिड़िया व मोनिक शर्मा ने चढ़वा रखा है। 
3- शेर सिंह की एक एकड़ जमीन व सुमेर सिंह की चार एकड़ जमीन को जगदीश निवासी भुरजट जिला महेंद्रगढ़ ने अपने नाम चढ़वा रखा है।
4- सुक्रमपाल की तीन एकड़ जमीन, निहाल सिंह की तीन एकड़ जमीन, भगवाना की चार एकड़ जमीन, भूप सिंह की एक एकड़ जमीन, ओमप्रकाश की तीन एकड़़ जमीन, राधेश्याम की करीब दो एकड़ जमीन को श्रद्धानंद वासी गांव चांगरोड की डिटेल लगी है।

सरकारी योजनाएं

सक्सेस स्टोरी