nigamratejob-logo

मेरी कहानी: पति का भाई निकला एक्स बॉयफ्रेंड, कॉलेज टाइम में दोनों करते थे ये काम, अब मैं क्या करू...

 | 
मेरी कहानी

मेरी लव मैरिज हुई है, लेकिन यह किसी संयोग से कम नहीं कि मेरे पति का भाई मेरा पुराना प्रेमी है। मैं इस सच को कई सालों से अपने सीने में छुपाए बैठी हूं। जब भी मेरे पति एकटक मेरी आंखों में देखते हैं, तो मैं डर जाती हूं कि कहीं उन्हें मेरे पास्ट रिलेशनशिप के बारे में पता तो नहीं चल गया।

जहां मैं अपने पास्ट को पीछे छोड़कर आगे बढ़ गयी थी, अब मुझे उसका सामना हर दिन करना पड़ता है। आज जब डिनर टेबल पर पूरा परिवार एक साथ खाना खा रहा है, कमरे में खुशनुमा माहौल है, मैं अपने अंदर एक अलग सी उदासी महसूस कर रही हूं। जो राज मैंने इतने समय से अपने पति से छिपा रखा है अब वह मुझे चुभने लगा है। (सभी तस्वीरें सांकेतिक हैं, हम यूजर्स द्वारा शेयर की गई स्टोरी में उनकी पहचान गुप्त रखते हैं)

मेरे पति को बिल्कुल भी आइडिया नहीं कि उनके भाई और मेरे बीच भाभी और देवर के अलावा भी कोई दूसरा रिश्ता होगा। जब मैंने दो तीन बार उन्हें खुद से बताने के बारे सोचा तो इस सच्चाई को जानने के बाद उन पर गुजरने वाले दुख और दर्द के विचार से मैं डर गयी।

मैं अपनी पति से बहुत प्यार करती हूं, उन्हें इस तरह से देख पाने की हिम्मत मुझमें नहीं है।

यह सब मेरे पति से मिलने से बहुत पहले शुरू हुआ था - मेरे कॉलेज के दौरान। उनका भाई भी उसी कॉलेज में पढ़ता था। हम दोनो एक दूसरे को पसंद करते थें। दिन का ज्यादातर समय हम साथ में ही बिताते थे। जब बातें करते थे तो समय का पता ही नहीं चलता था।

लेकिन जैसा कि अक्सर होता है, परिस्थितियों के कारण हमें अलग होना पड़ा। पर उसके बाद भी हमने दोस्त बने रहना तय किया था। मेरे लिए वह बिल्कुल गलत समय पर सही व्यक्ति से मिलने जैसा था।

​रिलेशनशिप खत्म होने के कुछ साल बाद मैं एक योगा क्लास में अपने पति से मिली। योग और फिटनेस के प्रति हमारे प्रेम के कारण हम बहुत जल्दी करीब आ गए थे। जिसके बाद एक-दूसरे से प्यार हो गया, और हमने शादी करने का फैसला किया।

मैं उनके परिवार के बारे में जानती थी पर जब उन्होंने अपने छोटे भाई का नाम बताया था तो मैं थोड़ा अलर्ट हो गयी थी क्योंकि यह नाम मेरे एक्स बॉयफ्रेंड का भी था। फिर मैंने सोचा दुनिया में एक नाम के बहुत सारे लोग होते हैं,

लेकिन जब उन्होंने अपनी फैमिली फोटो दिखाई तो मेरा डाउट यकीन में बदल गया। उनका भाई वही लड़का था जिसे मैंने कॉलेज के दिनों में डेट किया था। लेकिन मैंने अपने आने वाले सुनहरे कल के लिए इस सच्चाई को छुपाने का फैसला किया।

मैंने और मेरे पति के भाई ने अपने रिश्ते की सच्चाई को बिना किसी सवाल जवाब के अपना लिया है। हमने चुपचाप हमारे बीच के आदमी की खातिर अपने पास्ट को छिपाए रखने का फैसला किया, क्योंकि वह एकमात्र ऐसा व्यक्ति है जिसे मैं वास्तव में प्यार करती हूं।

ऐसे में हम दोनो बस हेलो... हाय.. ही करते हैं, इस बात का ध्यान रखते हुए कि किसी को कुछ अजीब ना लगे। लेकिन जब में दोनों भाईयों के बीच प्यार और विश्वास को देखती हूं, तो मैं अपने झूठ के कारण शर्मिंदा हो जाती हूं।

अक्सर मैं अपने फैसले पर सवाल उठाती हूं। खुद से हजार पर पुछती हूं कि क्या मेरे पति मेरी भावनाओं को समझ पाएंगे? क्या वह मेरे इस झूठ को माफ कर पाएंगे जो मैं इतने सालों से बोल रही हूं। उन्हें खोने के डर से मेरा दम घुटने लगता है।

इसलिए मैंने सावधानी से सच्चाई को छुपाते हुए अपना मुखौटा पहन रखा है। किसी दिन, जब मुझमें साहस आएगा, तो मैं अपने पति को यह सच्चाई बता दूंगी और वह दिन होगा जब मैं खुद को झूठ से आजाद कर दूंगी।

सरकारी योजनाएं

सक्सेस स्टोरी