nigamratejob-logo

Toll Tax: हाइवे पर जाना शख्स को पड़ गया भारी,करोड़ों में हुआ टोल टैक्स, जानें पूरा मामला

 | 
Toll Tax: भारत में फास्टैग (FASTag) के इस्तेमाल से टोल कलेक्शन में इजाफा हुआ है। इससे आम आदमी को राहत मिली है। उन्हें कतार में खड़े होने से छुटकारा मिल गया है। लेकिन तकनीकी खामियां भी सामने आ रही हैं। जिससे लोगों को कई तरह की कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है। 9 करोड़ रुपये का टोल टैक्स  हाल ही में, एक शख्स को हरियाणा हाईवे पर यात्रा करते समय भारी टोल टैक्स का सामना करना पड़ा है। शख्स ने बताया कि उससे 9 करोड़ रुपये का टोल टैक्स मांगा गया। जब कि वहां का टोल टैक्स 90 रुपये होता है।  कोई समाधान नहीं  Paytm FASTag यूजर ने हाल ही में बताया कि उन्हें NHAI (National Highway Authority of India) 9 करोड़ रुपये चार्ज किए हैं। इस घटना को TeamBHP फोरम पर एक शख्स ने शेयर किया है। शख्स ने बताया कि उन्होंने हेल्पलाइन नंबर में भी फोन किया। लेकिन अब तक कोई समाधान नहीं मिला है।   90 रुपये की जगह टोल टैक्स 9 करोड़ रुपये  शख्स ने अपनी आपबीती शेयर करते हुए बताया कि उन्होंने हरियाणा के हिसार के पास स्थित Mayar टोल प्लाजा का इस्तेमाल किया था। इसके बाद उन्हें Paytm की ओर से पता लगा कि उनका फास्टैग कम बैलेंस की वजह से ब्लैकलिस्ट हो गया है। बैन के बारे में पूछते हुए, उन्हें पता चला कि उन्हें 9 करोड़ रुपये चार्ज किए गए थे। जबकि औसत टोल चार्ज 90 रुपये होता है।  Paytm से एक टेक्स्ट मैसेज मिला  उन्होंने आगे बताया कि मुझे Paytm से एक टेक्स्ट मैसेज मिला। जिसमें लिखा था कि कम बैलेंस के चलते मेरी कार के FASTag को ब्लैकलिस्ट कर दिया गया है। Paytm एप्लिकेशन में चेक करने पर मुझे पता चला कि उन्होंने मेरे खाते से नौ करोड़ चार्ज किए हैं।

Toll Tax: भारत में फास्टैग (FASTag) के इस्तेमाल से टोल कलेक्शन में इजाफा हुआ है। इससे आम आदमी को राहत मिली है। उन्हें कतार में खड़े होने से छुटकारा मिल गया है। लेकिन तकनीकी खामियां भी सामने आ रही हैं। जिससे लोगों को कई तरह की कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है।

 

9 करोड़ रुपये का टोल टैक्स

हाल ही में, एक शख्स को हरियाणा हाईवे पर यात्रा करते समय भारी टोल टैक्स का सामना करना पड़ा है। शख्स ने बताया कि उससे 9 करोड़ रुपये का टोल टैक्स मांगा गया। जब कि वहां का टोल टैक्स 90 रुपये होता है।

 

कोई समाधान नहीं

Paytm FASTag यूजर ने हाल ही में बताया कि उन्हें NHAI (National Highway Authority of India) 9 करोड़ रुपये चार्ज किए हैं। इस घटना को TeamBHP फोरम पर एक शख्स ने शेयर किया है। शख्स ने बताया कि उन्होंने हेल्पलाइन नंबर में भी फोन किया। लेकिन अब तक कोई समाधान नहीं मिला है।

90 रुपये की जगह टोल टैक्स 9 करोड़ रुपये

शख्स ने अपनी आपबीती शेयर करते हुए बताया कि उन्होंने हरियाणा के हिसार के पास स्थित Mayar टोल प्लाजा का इस्तेमाल किया था। इसके बाद उन्हें Paytm की ओर से पता लगा कि उनका फास्टैग कम बैलेंस की वजह से ब्लैकलिस्ट हो गया है। बैन के बारे में पूछते हुए, उन्हें पता चला कि उन्हें 9 करोड़ रुपये चार्ज किए गए थे। जबकि औसत टोल चार्ज 90 रुपये होता है।

Paytm से एक टेक्स्ट मैसेज मिला

उन्होंने आगे बताया कि मुझे Paytm से एक टेक्स्ट मैसेज मिला। जिसमें लिखा था कि कम बैलेंस के चलते मेरी कार के FASTag को ब्लैकलिस्ट कर दिया गया है। Paytm एप्लिकेशन में चेक करने पर मुझे पता चला कि उन्होंने मेरे खाते से नौ करोड़ चार्ज किए हैं।

सरकारी योजनाएं

सक्सेस स्टोरी