logo

Post Office Scheme: पत्नी के साथ खोलें यह खाता, हर साल कमाएं 59400 रूपए

 | 
POST OFFICE SCHEME

Post Office MIS scheme: नौकरी के अलावा अलग से रेगुलर इनकम का ऑप्शन चाहिए तो पोस्ट ऑफिस आइये. Post Office MIS स्कीम आपके लिए बेस्ट ऑप्शन हो सकती है. खासकर उन लोगों के लिए जो पति-पत्नी अकाउंट खुलवाना चाहते हैं. हस्बैंड-वाइफ (MIS for Husband-Wife) को यह स्कीम आपको डबल फायदा दे सकती है. पोस्ट ऑफिस की मंथली इनकम स्कीम (Post office MIS) में आपको हर महीने कमाई का मौका मिलता है. ज्वाइंट अकाउंट खुलवाने पर यह सुविधा मिलती है. स्कीम में डबल फायदा कैसे कमाया जा सकता है. आइये जानते हैं. 

सालाना कमाएं 59,400 रुपए

MIS स्कीम में खोले गए अकाउंट को सिंगल और ज्वाइंट दोनों तरह से खोला जा सकता है. इंडिविजुअल अकाउंट खोलते समय आप इस स्कीम में न्यूनतम 1,000 रुपए और अधिकतम 4.5 लाख रुपए का निवेश कर सकते हैं. हालांकि, ज्वाइंट अकाउंट में अधिकतम 9 लाख रुपए तक जमा किया जा सकता है. यह योजना रिटायर्ड कर्मचारियों और वरिष्ठ नागरिकों के लिए तो बहुत फायदेमंद है.

क्या-क्या मिलते हैं फायदे?

MIS में अच्छी बात ये है कि दो या तीन लोग मिलकर भी ज्वाइंट अकाउंट खुलवा सकते हैं. इस अकाउंट के बदले में मिलने वाली आय को हर मेंबर को बराबर दिया जाता है. ज्वाइंट अकाउंट को कभी भी सिंगल अकाउंट में कन्वर्ट करा सकते हैं. सिंगल अकाउंट को भी ज्वाइंट अकाउंट (Joint account) में कन्वर्ट करा सकते हैं. अकाउंट में किसी तरह का बदलाव करने के लिए सभी अकाउंट मेंबर्स की ज्वाइंट एप्लीकेशन देनी होती है.

कैसे काम करती है स्कीम?

इस स्कीम में आपको मौजूदा समय में 6.6 फीसदी की दर से सालाना ब्याज मिल रहा है. स्कीम के तहत आपकी कुल जमा पर सालाना ब्याज के हिसाब से रिटर्न की कैलकुलेशन की जाती है. इसलिए इसे हर महीने के हिसाब से 12 हिस्सों में बांट दिया जाता है. यह एक हिस्सा आप हर महीने अपने खाते में मंगा सकते हैं. अगर आपको मंथली बेसिस पर इसकी जरूरत नहीं है तो मूलधन में यह रकम भी जोड़कर उस पर ब्याज मिलता है.

उदाहरण से समझें कैसे होगी इनकम?

पति-पत्नी ने Post Office MIS Scheme में ज्वाइंट अकाउंट में 9 लाख रुपए निवेश किया है. 9 लाख की जमा पर 6.6 फीसदी ब्याज दर से सालाना रिटर्न 59,400 रुपए होगा. इसे अगर 12 हिस्सें में बांट दिया जाए तो यह मंथली 4,950 रुपए होगा. मतलब 4950 रुपए आप हर महीने अपने खाते में मंगा सकते हैं. वहीं, आपका मूलधन पूरी तरह से सुरक्षित पड़ा रहेगा. चाहें तो स्कीम को 5 साल बाद और 5-5 साल के लिए बढ़ा सकते हैं.

सरकारी योजनाएं

सक्सेस स्टोरी