logo

Success Story: पति बैंकर, पत्नी CA, दोनों ने नौकरी छोड़कर शुरू की खेती, अब सालाना कमा रहे करोड़ों रूपए

 | 
SUCCESS STORY

Success Story: जोधपुर के रहने वाले ललित ने एमबीए करने के बाद बैंक में जॉइन की, जबकि उनकी पत्नी खुशबू चार्टर्ड अकाउंटेंट थीं. इसके बाद उन्होंने जॉब छोड़कर ऑर्गेनिक खेती (Organic Farming) शुरू और इसे प्रॉफिट का बिजनेस बना दिया. आज ललित और खुशबू दूसरे के लिए मिसाल हैं, जो ऑर्गेनिक खेती करना चाहते हैं.

नौकरी के दौरान ललित ऑर्गेनिक खेती (Organic Farming) के बारे में ज्यादा नहीं जानते थे और इसके बारे में बस उन्होंने सुना था. हालांकि, इसकी शुरुआत करने से पहले जैविक खेती पर पूरा रिसर्च किया और जोधपुर आकर उद्यान विभाग से ट्रेनिंग ली. उन्होंने पॉलीहाउस और ग्रीन हाउस के बारे में समझा. जयपुर में कृषि अनुसंधान केंद्र में उद्यान विभाग के अधिकारियों से बारीकियां सीखी.

जब ललित ने ऑर्गेनिक फार्मिंग की शुरुआत की तब लोगों ने उन्हें डराया कि यह सक्सेस नहीं है, लेकिन उन्होंने इसकी चिंता नहीं की और इस क्षेत्र में उतरने का फैसला किया.  ललित कहते हैं कि इसके लिए जब उन्होंने पिता से पुश्तैनी जमीन मांगी तो शुरुआत में वो राजी नहीं हुए, लेकिन फिर धीरे-धीरे मान गए.

SUCCESS STORY

ट्रेनिंग के बाद ललित ने अपने फॉर्म पर शेडनेट हाउस लगाकर सब्जियां उगाना शुरू किया और फिर धीरेधीरे पॉलीहाउस भी लगाया. उन्होंने उद्यान विभाग से अनुदान लेकर खीरे का उत्पादन लेना शुरू किया और इसके लिए टर्की से बीज मंगवाए. साल 2015-16 में आधा बीघा जमीन पर कुल 28 टन खीरा ककड़ी का उत्पादन हुआ और चार लाख रुपये की लागत से 12 से 13 लाख रुपये का शुद्ध मुनाफा हुआ.

SUCCESS STORY

इसके बाद ललित ने नर्सरी की शुरुआत की और उस समय उनका टर्नओवर 23 से 30 लाख रुपये था. इसके बाद धीरे-धीरे यह 60 से 80 लाख रुपये तक पहुंचा. आज उनकी सलाना कमाई 1 करोड़ रुपये से ज्यादा है.

SUCCESS STORY

ललित की पत्नी खुशबू सीए है और शुरू में उनको ऑर्गेनिक खेती (Organic Farming) के बारे में कुछ भी जानकारी नहीं थी. हालांकि उन्होंने अपने पति को पूरा सपोर्ट किया और अब वो पूरे बिजनेस को संभाल रही हैं. खुशबू बताती हैं कि आज वो लोग अब तक 60 हजार से ज्यादा किसानों को खेती के गुण सीखा चुके हैं.

सरकारी योजनाएं

सक्सेस स्टोरी